अमरूद की पत्तियों में छिपे है बहुत सी बीमारियों के इलाज।

अमरुद की पत्तियां अमरुद से भी ज्यादा फायदेमंद होती है। इसके बहुत से स्वास्थ्यवर्धक लाभ है जिन्हे शायद आप नहीं जानते होंगे।

इसमें ऐसे चमत्कारी गुण है जो आपको कई बिमारियों से दूर रखते है जैसे स्किन प्रॉब्लम, बालो की समस्या या फिर इससे बनी हुए चाय भी बहुत फायदेमंद है।guava leaves benefits

अमरूद की पत्तियों के लाभ-

 

वजन घटाने में: अमरुद की पत्तियों का रस जटिल स्टार्च को शुगर में बदलने की प्रोसेस को रोकता है।जिससे शरीर के वजन को घटाने में सहायता मिलती है।

गठिया की सूजन: अमरुद के पत्तो को कूटकर, लुगदी बनाकर उसको गरम कर के लगाने से गठिया से हई सूजन दूर हो जाती है।

स्वपनदोष में: अमरुद के पत्तो का रस निकाल कर उसमे स्वादानुसार चीनी मिलाकर लेने से स्वपनदोष की बीमारी में लाभ मिलता है।

लिकोरिअा (महिलाओ में सफ़ेद पानी की समस्या): अमरुद की ताज़ा पत्तियों का रास 10 से 20 मिलीलीटर रोजाना सुबह शाम पीने से लिकोरिआ की बीमारी में लाभ मिलता है।

लिवर की गन्दगी: अमरुद की पत्तियों का रस लिवर की गन्दगी निकलने में मदद करता है।ये शरीर से खराब cholesterol को भी निकालता है।

पेट की समस्या: अमरुद की पत्तियों को20-30 मिनट तक उबाल ले और फिर उसका पानी छान कर पी लेने से पेट की बीमारियों में लाभ मिलता है।

फ़ूड poisoning: कई बार हमारे गलत खान पान की वजहें से हमे फ़ूड poisoning हो जाती है।अमरुद की पत्तियां इसमें बहुत ही कारगर साबित होती है।

Dengue में: डेंगू बुखार में भी अमरुद की पत्तियों के रस का सेवन संक्रमण से बचता है

एलर्जी दूर करे: जिस वायरस से एलर्जी पैदा होती है अमरुद की पत्तियों का रस उस वायरस को ही खत्म कर देती है 

आधे सर का दर्द: आधे सर के दर्द में सूर्य के उदय होने से पहले ही कच्चे हरे ताज़े अमरुद लेकर उसकी पत्तियों को घिसकर लेप बना ले और उससे माथे पर लगाए रोजाना करने से कुछ ही दिनों में पूरी तरह से लाभ मिलेगा।

छालो में: अमरुद के पत्तो को चबाने से मुँह के छाले ठीक हो जाते है।

दांत दर्द, गले में दर्द, मसूड़ों की बीमारी आदि में अमरुद की पत्तियों का पेस्ट बना कर मसूड़ों या दांत पर रख सकते है।

शुगर में: एक शोध के अनुसार अमरुद की पत्तियों में रक्त शर्करा को काम करने की क्षमता होती है।और दूसरी और sucrose और lactose को सोखने से शरीर को रोकती है जिससे शुगर का लेवल balance रहता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!