जामुन की गुठली को न फेक कर करे ऐसे इस्तेमाल तो मिलेंगे चमत्कारी फायदे |

जामुन की गुठली को न फेक कर करे ऐसे इस्तेमाल तो मिलेंगे चमत्कारी फायदे

जामुन खाने में स्वादिष्ट होने के साथ साथ औषधीय गुणों से भरपूर है | इसमें वो सभी प्रकार के लवण मौजूद होते है जो हमारे शरीर के लिए बेहद आवश्यक है |

इसमें glucose, फ्रुक्टोसे, फोलिक एसिड, phosphorus, आदि पाया जाता है | ये मूत्राशय में जमी पथरी निकालने में भी सहायक है | health benefits of jamun

आये जानते है जामुन के अद्भुत फायदे:

मदुमेह (शुगर) में सहायक: 5-10 जामुन के फलो को एक कप पानी में उबाले | फिर पानी को ठंडा कर के उसमे जामुन को मथ ले | इस पानी को सुबह शाम पीने से शुगर में लाभ मिलता है |

जामुन के5-6 पत्तो को सुबह सुबह सेंधे नमक के साथ चबा कर खाने से कुछ ही दिनों में मधुमेह का रोग मिट जाता है |

पेट में दर्द: जामुन के रस में सेंधा नमक मिलाकर खाने से पेट का दर्द, दस्त लगना, भूक का न लगना आदि बिमारियों में राहत मिलती है |

पेट की किसी भी तरह की बीमारी में जामुन खाना बेहद ही लाभकारी है |

बिस्तर पर पेशाब करना: जामुन की गुठलियों को छाया में सूखा कर पीसकर चूरन बना ले | इस 2-2 ग्राम चूरन को दिन में दो बार पानी के साथ लेने से बच्चे बिस्तर पर पेशाब करना बंद कर देते है |

Pimples में लाभकारी: जामुन के बीजो को पानी में घिसकर लगाने से चेहरे से मुहांसे साफ़ हो जाते है |

हिचकी में: जामुन, तेन्दु के फल और फूलो को पीसकर घी और शहद में मिलाकर चटाने से बच्चो की हिचकी बंद हो जाती है |

गले की आवाज बैठना: जामुन की गुठलियों को पीसकर शहद में मिलाकर गोलियां बना ले | रोजाना 4 बार दो-दो गोलियां चूसे | इससे बैठा हुआ गला ठीक हो जाता है| जिनकी भारी आवाज हो वो भी ठीक हो जाती है | गाना गाने वालो के लिए तो ये बहुत ही उपयोगी सिद्ध होती है |

पैरो के छाले: टाइट, नया जुता पहनने से या फिर ज्यादा चलने से पैरो में छाले पड़ जाते है | ऐसे में जामुन की गुठली पानी में घिसकर2-3 बार लगाए. पैरो के छाले एक दम ठीक हो जायेगे |

पसीना जायदा आना: जामुन के पत्तो को पानी में उबालकर नहाने से अधिक पसीना आना बंद हो जाता है|

पथरी: जामुन की गुठलियों को सुखाकर पीस ले और इस चूरन का सुबह शाम खाली पेट सेवन करने से गुर्दे की पथरी निकल जाती है |

कान का बहना: जामुन और आम के मुलायम पत्तो के रस को शहद में मिलकर बून्द-बून्द कर के कान में डालने से कान बहने की समस्या बिलकुल ठीक हो जाती है |

कान में दर्द: कान के दर्द में जामुन का तेल डालने से लाभ मिलता है |

गर्भवती को उलटी: जामुन और आम की छाल को बराबर मात्रा में लेकर काढ़ा बना ले और इसमें शहद मिलाकर गर्भवती को देने से उलटी आनी बंद हो जाती है |

मुँह के छाले: जामुन की छाल का काढ़ा बनाकर गरारे करने से मुँह के घाव और छालो में आराम मिलता है |

पथरी: जामुन की गुठलियों को सुखाकर पीस ले और इस चूरन का सुबह शाम खाली पेट सेवन करने से गुर्दे की पथरी निकल जाती है |

नपुंसकता: जामुन की गुठली का चूर्ण रोज गरम दूध के साथ खाने से नपुंसकता दूर होती है |

पायरिया यानी दांतो की बीमारी: जामुन के पेड की छाल को आग में जलाकर उसमे सेंधा नमक और फिटकरी मिलाकर उसका पेस्ट बना ले | इससे रोजाना मंजन करने से पायरिया की समस्या ठीक हो जाती है |

 

नोट: जामुन को हमेशा खाना खाने के बाद ही खाना चाहिए |

जामुन खाने के तुरंत बाद दूध नहीं पीना चाहिए |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!