कब्ज़ की समस्या का इलाज।

पेट के ठीक ढंग से साफ़ न होने को कब्ज़ या constipation कहते है। यदि कब्ज़ की समस्या का समाधान समय से ना किया जाये तो ये अन्य रोग भी पैदा कर सकती है। भोजन ग्रहण करने के पश्चात शरीर भोजन में से उपयोगी पदार्थो को ग्रहण कर लेता है और बचे हुए मल को शरीर से बहार निकलना चाहता है। क्युकी ये अब शरीर के लिए किसी भी तरह से फायदेमंद नहीं है, यह जितनी देर शरीर में रहेगा नुक्सान ही देगा।

समय पर मल त्याग ना करना, देर रात भोजन खाना, पानी कम पीना, भोजन करते ही सो जाना कब्ज़ के मुख्य कारण है। कब्ज़ की अवस्था में मल अंतड़ियो में फस कर बोहोत गाढ़ा होजाता है। जिससे रोगी को शरीर से बाहर निकलने में बहुत समस्या आती है।

कब्ज़ की समस्या के मुख्य कारण :-

-समय पर भोजन ना करना।
-भोजन में फाइबर की कमी।
-भोजन करते ही सो जाना।
-कम पानी पीना।
-कैल्शियम व पोटासियम काम मात्रा में लेना।
-चाये व कॉफ़ी का अधिक मात्रा में सेवन करना।
-बिना चबाये भोजन करना।
-अधिक नशीले पदार्थो का सेवन।
-भोजन में ज्यादा मसलो का इस्तेमाल।
-कम शारीरिक श्रम करना।

यह सभी कब्ज़ के मुख्य कारण है, इनसभी बातो का ध्यान रखने से कब्ज़ की समस्या नहीं होती।

कब्ज़ के लक्षण :-

-माह से बदबू आना।
-सर दर्द रहना।
-जी मिचलाना।
-भूख बोहोत काम लगना।
-पेट भारी रहना।
-चेहरे पर फुंसिया होना।
-मल के त्याग में अधिक जोर लगना।
-बार-बार मल त्यागने की इच्छा होना।
-बोहोत अधिक गाढ़ा मल आना।

कब्ज़ की समस्या से होने वाले नुक्सान :-

-चेहरे की सुन्दरता का कम होना।
-मुँह में चले पड़ना।
-चिड़चिड़ापन रहना।
-चेहरे पर फुंसिया होना।
-आँखों की रोशनी का कम होना।
-याददास्त पर असर होना।
-शारीरिक कमजोरी आना।

कब्ज़ की समस्या को दूर करने के घरेलु उपाय :-

-भूख लगने पर ही भोजन करे।
-सोने से 3 घंटे पहले भोजन करे।
-भोजन करते समय पानी ना पिये।
-भोजन करने के 30 मिनट बाद ही पानी पिये।
-मल आने पर उसे रोके नहीं।
-नाश्ते में 1 सेब और रात के भोजन के बाद 1 सेब नियमित रूप से खाये।
– सुबह उठकर एक कप लौकी(घीया) का जूस पिये।
-नियमित रूप से पपीते का सेवन करने से कब्ज़ की समस्या नहीं होती।
-कच्चा टमाटर खाने से कब्ज़ की समस्या दूर होजाती है।
– पुरानी कब्ज़ को दूर करने के लिए मूली पर नमक व काली मिर्ची लगाकर 2 महीने तक खाये, कब्ज़ भी ठीक हो जाएगी और गैस की समस्या से भी छुटकारा मिलेगा।

 

 

 

admin Author

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *