10 आश्‍चर्यजनक लाभ है भिंडी के

भिंडी भारतीय व्यंजनों का एक महत्वपूर्ण हिस्सा रही है। इसे हर कोई पसंद करता है चाहे वो बूढ़ा हो, बच्चा हो या नौजवान हो। लेकिन इसके बहुमूल्य फायदे शायद ही किसी को पता होंगे। आइये जानते है भिंडी के पोषक तत्व और इससे होने वाले स्वास्थ्य लाभों के बारे में।

lady finger benefits

वजन घटाने में सहायक भिंडी:

इस में कैलोरी की मात्रा कम होती है। यह फाइबर युक्त आहार है जो की वजन कम करने में बेहद ही सहायक है। कम कैलोरी और उच्च फाइबर होने के कारण आपको भूख भी नहीं लगने देता है 

दिल की बीमारी:

भिंडी में पेक्टिन नामक फाइबर होता है। जो शरीर मे आसानी से घुल जाता है। पेक्टिन हमारे शरीर से bad cholesterol को निकालता है और blood clots यानि खून के थक्को को हटाने में मदद करता है। दिल की किसी भी तरह की बीमारी होने से बचाता है।

मधुमेह को नियंत्रित:

इस के सभी फायदे इसमें उपस्थित फाइबर के कारण है। इस का फाइबर ब्लड शुगर के लेवल को नियंत्रित करता है।              

गर्भावस्था में लाभदायक :

जो महिलाये कंसीव करना चाहती है भिंडी उनके लिए पूर्ण रूप से आवश्यक है। इसमें फोलिक एसिड पाया जाता है जो न सिर्फ कंसीव करने में मदद करता है बल्कि भ्रूण के विकास में भी मदद करता है। यह गर्भपात होने में भी रोकधाम करती है।

पाचन तंत्र:

इस में उपस्थित फाइबर हमारी पाचन शक्ति को बेहतर बनाते है। जिन लोगो को कब्ज़ की समस्या है उन्हें प्रतिदिन इस का सेवन करना चाहिए।

रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने में सहायक:

अन्य महतवपूरण लाभ ये है की भिंडी में विटामिन ‘C’ पाया जाता है जो हमारी रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढाता है।

आँखों की रौशनी:

भिंडी में पाया जाने वाला विटामिन ‘A’ और बीटा कैरोटीन आँखों की रौशनी बढ़ाने में सहायक है 

रुसी और जुएं का इलाज:

यह जुए और रुसी को खत्म करने का उत्तम घरेलू नुस्खा है। इस को लम्बा-लम्बा काट कर पानी में उबाल ले। अब इसमें निम्बू निचोड़ ले और छान कर इस मिश्रण से बालो को धो ले।

आंत के कैंसर की रोकधाम:

फाइबर युक्त जितने भी आहार होते है सब आंत के कैंसर की रोकधाम करते है उसी तरह भिंडी भी पाचन तंत्र को सही तरह से काम करते रहने में मदद करती है।

खून की कमी:

भिंडी में प्रेजेंट आयरन, फोलिक एसिड, विटामिन ‘K’ और नुट्रिएंट्स खून की कमी को पूरा करते है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!