हिचकी आने का मतलब जरुरी नहीं की कोई याद कर रहा हो।

हिचकी आने का मतलब जरुरी नहीं की कोई याद कर रहा हो:hiccups

जब भी हिचकी आती है तो ऐसा मान लिया जाता है की कोई याद कर रहा है और लोग अपने नजदीकी मित्रो के बारे में सोच कर खुश होने लगते है। जबकि हिचकी आने का असली कारण कुछ और ही होता है। विशेषज्ञे बताते है की अधिक तनाव, ज्यादा सिग्रेटे पीना, बदलता मौसम ओर गर्म के बाद कुछ ठंडा खा लेना ही हिचकी आने का असली कारण है।

तो जब भी आपको हिचकी आए तो इसको किसी के याद करने से ना जोड़ते हुए इससे छुटकारा पाने के उपाए करे।

हिचकी से छुटकारा पाने के उपाए :-

 

–  हिचकी आने पर 1 गिलास ठंडा पानी पिने से हिचकी बंद हो जाती है।

– बहुत से लोगो को अलकोहल पिने के बाद हिचकी आने लगती है, ऐसे में निम्बू को काट कर उससे चाटने से हिचकी आनी बंद हो जाती है।

– पीनट बटर भी हिचकी को रोने में बहुत कारगर होता है। यह सांस लेने की प्रक्रिया को प्रभावित करता है। इसी लिए जब भी हिचकी आए तो 1 चमच पीनट बटर जरूर खाये।

– ध्यान भटकाकर भी हिचकी को रोका जा सकता है। हिचकी आने पर यदि आपको कोई चौका दे या फिर आप अपना ध्यान किसी दूसरी तरह लगा ले तो आपकी हिचकी बंद हो जाएगी।

– हिचकी आने पर 1 चमच शहद खाने से भी हिचकिया बंद हो जाती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!