घर में पौधे लगाने से पहले यह बात जरूर जान लें

घर में पौधे लगाने से पहले यह बात जरूर जान लें:vastu plants

वास्तु शास्त्र के हिसाब से कुछ पौधे सुख-शांति व समृद्धि के लिए अच्छे माने जाते हैं। वही कुछ पौधों का इनसे विपरीत असर भी होता है। इसीलिए आपको सही जानकारी का होना बहुत जरूरी है। वैसे तो पौधे प्रकृति का संतुलन बनाए रखने के लिए बहुत जरूरी होते हैं। लेकिन यदि इनको वास्तु शास्त्र के अनुसार घर में लगाया जाए तो यह आपके घर में भी सकारात्मक ऊर्जा का संचार करते हैं। आज हम आपको कुछ ऐसे पौधों के बारे में बताएंगे जो धन समृद्धि व सुख शांति के कारक होते हैं। और उन्हें लगाते समय आपको किन बातों का ध्यान रखना चाहिए।

– घर के भीतर कभी भी अत्यधिक सुगंध वाले पौधे जैसे चंपा, चमेली, रात की रानी नहीं लगाने चाहिए। इन्हें आप घर के बाहर या फिर किसी ऐसे स्थान पर लगा सकते हैं जहां अधिक आना जाना ना हो।

roses

– घर में गुलाब का पौधा लगाना बहुत शुभ माना जाता है। यह लक्ष्मी जी को बहुत प्रिय होता है।

– घर के भीतर कभी भी किसी भी तरह का नकली पौधा ना लगाए। यह घर में नकरात्मक उर्जा का संचार करता है।

– हर घर में तुलसी का पौधा अवश्य होना चाहिए। तुलसी का पौधा सबसे पवित्र माना जाता है और साथ ही इसमें बहुत से औषधीय गुण भी होते हैं। तुलसी का पौधा बहुत ही शुभ और सौभाग्य वर्धक माना जाता है। जिस घर में तुलसी का पौधा होता है वहां कभी भी दुर्भाग्य नहीं आ सकता।

– घर के भीतर कभी भी कोई ऐसा पौधा ना रखें जो सूख गया हो या मुरझा रहा हो। यह सुख और सौभाग्य में रुकावट का कारण बनते हैं।

money plants

– ज्योतिषी के अनुसार घर में मनी प्लांट का पौधा अवश्य लगाना चाहिए। इस से धन की प्राप्ति तो होती ही है और साथ ही यह शादीशुदा रिश्तो में भी मिठास लाता है।

– घर के मुखिया के लिए बांस का पौधा बहुत ही शुभ माना जाता है। इससे सुख समृद्धि व यस की प्राप्ति होती है।

– यदि आपके घर के आंगन या किसी दीवार में पीपल का पौधा उग आये तो उसे काट कर फेकने की जगह श्री विष्णु जी को नमन कर उसे जड़ सुधा निकालकर घर से दूर किसी अन्य स्थान पर लगा देना चाहिए।

– घर के बेडरूम में किसी भी तरह का कोई पौधा लगाने से बचें।

kaktus

– घर के अंदर कभी भी किसी तरह के कांटे वाला जैसे कि कैक्टस का पौधा नहीं लगाना चाहिए। जिन पौधों में से सफेद द्रव निकलता हो उन्हें भी घर में लगाना अशुभ माना जाता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!